पाकिस्तान ने दो भारतीय जवानों के शव क्षत-विक्षत किए

18 Oct 2017 11:14 AM

श्रीनगर : पाकिस्तान ने एक बार फिर अपना घिनौना/नीच चेहरा दिखाते हुए भारतीय जवानों के शव क्षत़-विक्षत कर दिए हैं. पाकिस्तानी सेना ने सोमवार (1 मई) को सुबह सीजफायर का उल्लंघन करते हुए पुंछ में मोर्टार और रॉकेट दागे. इस गोलीबारी में भारतीय सेना के दो जवान शहीद हो गए. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम ने भारतीय सीमा में घुसकर दो जवानों के शवों के साथ बर्बरता की. दूसरी तरफ भारत ने कहा कि पाकिस्तान की इस हरकत का वह माकूल जवाब देगा.


दो जवानों के शव के साथ बर्बरता


अधिकारियों ने बताया कि विशेष बलों के दल बॉर्डर एक्शन टीम (बीएटी) ने पाकिस्तानी सैनिकों की भारी गोलाबारी के बीच पुंछ जिले के कृष्ण घाटी सेक्टर में इस हमले को अंजाम दिया. सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि सेना के एक जवान और बीएसएफ के एक हेड कांस्टेबल( के शवों को क्षत-विक्षत किया गया, लेकिन सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि उनके सिर धड़ से अलग किए गए हैं.


मृतकों की पहचान बीएसएफ की 200वीं बटालियन के हेड कांस्टेबल प्रेम सागर और सेना की 22 सिख रेजीमेंट के नायब सुबेदार परमजीत सिंह के तौर हुई है. हमले में जख्मी हुए बीएसएफ बटालियन के कांस्टेबल राजिंद्र सिंह खतरे से बाहर हैं.



पाकिस्तानी बल ने गश्ती दल को बनाया निशाना

अधिकारियों ने बताया कि बीएटी की टीम ने भारतीय सैनिकों के गश्ती दल को निशाना बनाते हुए जाल बिछाया था. इस बीच पाकिस्तानी सेना ने भारत की दो अग्रिम रक्षा चौकियों (एफडीएल) को रॉकेट और मोर्टार बम हमलों में उलझाए रखा. सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘पाकिस्तान सेना का यह पूर्व नियोजित अभियान था. उन्होंने बीएटी को भारतीय क्षेत्र में 250 मीटर तक अंदर तक भेजा और हमला करने के लिए उसने लंबे वक्त तक घात लगाई.’

.सैनिकों की हत्या करने के लिए LoC पार कर 250 मीटर तक भारतीय सीमा में घुसी पाकिस्तानी सेना


पाकिस्तान की बीएटी ने साजिश रचकर जवानों पर हमला किया. भारतीय जवानों को सीमा पर कुछ गतिविधि होने की जानकारी मिली थी जिसके बाद वे गश्त कर रहे थे. गश्त के दौरान ही बीएटी ने घात लगाकर जवानों पर हमला किया. पाकिस्तान की इस नापाक हरकत के बारे में में एनएसए ने पीएमओ को अवगत कराया. 


 पुंछ में पाकिस्तानी सेना ने किया सीजफायर का उल्लंघन, 2 जवान शहीद


पाकिस्तान ने बीएसएफ की अग्रिम रक्षा स्थान (एफडीएल) चौकी पर रॉकेट दागे जिसमें तीन जवान जख्मी हो गए जिनमें से दो शहीद हो गए. संघर्षविराम का उल्लंघन सुबह करीब साढ़े आठ बजे हुआ. बीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘सुबह साढ़े आठ बजे पुंछ जिले के कृष्णघाटी सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर बीएसएफ चौकी पर पाकिस्तानी (सेना) चौकी की ओर से रॉकेट और स्वचालित हथियारों से भारी गोलीबारी की गई. अधिकारी ने कहा कि सीमा की सुरक्षा करने वाले जवानों ने प्रभावी तौर पर जवाब दिया.

LoC पार कर आए पाकिस्तानी बलों ने की भारतीय जवानों की हत्या, सेना ने कहा 'माकूल जवाब' मिलेगा


दो जवान पाकिस्तानी गोलीबारी में शहीद


पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर अर्धसैनिक बल की अग्रिम रक्षा लोकेशन चौकी पर आज रॉकेट दागे जिसमें सेना के एक जेओसी और बीएसएफ के हेड कांस्टेबल  की मौत हो गई, जबकि एक अन्य जवान जख्मी हो गया. अर्धसैनिक बल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि संघर्ष विराम का उल्लंघन सुबह करीब साढ़े आठ बजे हुआ. हमले में सेना के नायब सूबेदार परमजीत सिंह और सीमा सुरक्षा बल यानी बीएसएफ की 200वीं बटालियन के एक हेड कांस्टेबल प्रेम सागर की मौत हो गई.


भारतीय सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब


अधिकारी ने कहा कि सीमा की सुरक्षा करने वाले जवानों ने प्रभावी तौर पर जवाब दिया. पाकिस्तानी सेना ने पुंछ और राजौरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर पिछले महीने सात बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था. उन्होंने 19 अप्रैल को पुंछ सेक्टर में संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था और 17 अप्रैल को नौशेरा में अग्रिम चौकी पर मोर्टार दागे थे. पाकिस्तान ने इसी सेक्टर में आठ अप्रैल को, पुंछ जिले में पांच अप्रैल को, भीमभर गली सेक्टर में चार अप्रैल को और बालाकोटे और पूंछ सेक्टरों में दो स्थानों पर तीन अप्रैल को गोलीबारी की थी.