कुमार विश्वास:-दिल्ली को अब केजरीवाल का साथ पसंद न नहीं आ रहा।

18 Oct 2017 11:17 AM

आम आदमी पार्टी (AAP)के बड़े नेता और कवि कुमार विश्वास ने पंजाब चुनाव और दिल्ली के एमसीडी चुनाव में पार्टी को मिली करारी हार पर निशाना साधा है.  कुमार विश्वास ने कहा कि चुनावों में गलत लोगों को टिकट दिये गये है , पंजाब में तो कांग्रेस और अकाली दल के लोगों को ही टिकट दिया गया था. 




एक इंटरव्यू में  बातचीत करते हुए कुमार विश्वास ने कहा कि पार्टी के अंदर कई गलत फैसले लिये गये थे, कई फैसले बंद कमरों में भी लिये गये. कुमार विश्वास ने कहा कि हार के बाद ईवीएम(EVM) को निशाना बनाना गलत था, यह एक मुद्दा हो सकता है लेकिन हार का मुख्य कारण यह था कि हम लोगों और अपने कार्यकर्ताओं से कट गये थे.


मोदी पर निशाना गलत फैसला


कुमार विश्वास ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के मुद्दे पर पीएम मोदी पर निशाना साधना पार्टी का गलत निर्णय था, वह देश के प्रधानमंत्री हैं इस तरह उनपर निशाना साधना ठीक नहीं था.


अपनी गलती के कारण हारे है हम। 


दिल्ली एमसीडी(MCD) चुनावों पर विश्वास बोले कि गोपाल राय को दिल्ली का इनचार्ज बनाया गया था, लेकिन उनके साथ चुनाव के मुद्दे पर कोई बातचीत नहीं की गई थी. बस पीएसी के दौरान कुछ निर्देश दिये गये थे. कुमार विश्वास ने कहा कि पार्टी में बदलाव की जरूरत है, पार्टी अपनी गलती के कारण ही एमसीडी चुनाव हारी है.


हार की समीक्षा जरूरी


कुमार विश्वास ने कहा कि यह हमारी छठी हार है, जिसका बड़ा कारण है कि हम लोग अपने ही कार्यकर्ताओं से कट गये हैं, इस तरह ईवीएम(EVM) को हार का कारण बताना गलत है. हम इसलिये हारे क्योंकि लोगों ने हमें वोट नहीं दिया है. हार पर बहाने ढूंढने की बजाय हमें इस हार की बैठ कर  समीक्षा करनी चाहिए.


 पार्टी मीटिंग में बदलाव पर फैसला


पार्टी नेतृत्व में बदलाव के सवाल पर कुमार विश्वास ने कहा कि इस बारे में हम पार्टी बैठक  में फैसला करेंगे. उन्होंने कहा कि संजय सिंह, दुर्गेश पाठक का इस्तीफा देना बहुत देरी से लिया गया एक्शन था. विश्वास ने कहा कि हम लोग जंतर-मंतर पर कांग्रेस, मोदी या ईवीएम के खिलाफ लड़ाई लड़ने के कारण नहीं बैठे थे.


MCD/ एमसीडी का नतीजा

MCD/ एमसीडी चुनाव में 270 सीटों में से 181 सीटें भारतीय जनता पार्टी(BJP) के नाम रही थी, तो वहीं आम आदमी पार्टी(AAP) 48 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर रही थी. कांग्रेस(CONGRESS) को मात्र 30 ही सीटें मिली थी. आप(AAP) की हार के बाद कई पार्टी नेताओं ने इस्तीफा दिया है, इस्तीफा देने वालों में संजय सिंह, दुर्गेश पाठक, दिलीप पांडेय, अलका लांबा शामिल थे.



#दिल्ली को अब केजरीवाल का साथ पसंद न नहीं आ रहा। 


शेयर करना ना भुलाई इस पोस्ट को धनबाद।